Muradabad News: चंद रुपयों के लिए बेच दी नागरिकता, घूस लेकर 16 रोहिंग्याओं को बनवाया वोटर, बीएलओ सस्पेंड

News

हाइलाइट्स:

  • मुरादाबाद में रोहिंग्याओं को नागरिकता दिए जाने का मामला
  • घूस लेकर BLO ने रोहिंग्याओं को बनाया फर्जी तरीके से वोटर
  • एसडीएम की जांच के बाद ऐक्शन, आरोपी बीएलओ सस्पेंड

शदाब रिजवी, मुरादाबाद
उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में ब्लॉक लेवल अफसर (बीएलओ) ने पूर्व प्रधान के साथ मिलीभगत कर 16 रोहिंग्याओं को फर्जी तरीके से वोटर बना दिया है। इस काम के लिए बीएलओ ने रिश्वत भी ली। जांच में आरोप सही साबित होने पर एसडीएम ने सभी वोट कैंसल करने के आदेश दिए हैं। वहीं बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बीएलओ (सहायक अध्यापक) प्रशांत कुमार को निलंबित कर दिया है।

यह मामला मुरादाबाद जिले के भगतपुर टांडा के रुस्तमपुर तिगरी ग्राम पंचायत से जुड़ा हैं। म्यांमार से भारत आकर अवैध रूप से रह रहे रोहिंग्याओं को फर्जी तरीके से वोटर बनाए जाने की शिकायत 29 जनवरी 2021 को गांव के ही नाजिर और पीरबख्श ने की थी। तहसील प्रशासन के मुताबिक आरोप था कि पूर्व प्रधान शकील अहमद ने फर्जी कागज लगाकर बीएलओ से मिलीभगत कर रोहिंग्याओं को वोटर बनवा दिया।

बताया गांव का निवासी
भगतपुर टांडा के रुस्तम तिगरी ग्राम पंचायत में बीएलओ प्रशांत कुमार तैनात हैं। निर्वाचन विभाग को प्रारूप-छह पर 16 ऑनलाइन आवेदन प्राप्त हुए। बीएलओ ने कहा कि इन आवेदनों की 1 जनवरी 2021 को जांच हो चुकी है। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में इन 16 रोहिंग्याओं को गांव का निवासी बताया था।

रुस्तमपुर तिगरी प्राइमरी स्कूल की लिस्ट में क्रम संख्या 794 से 809 तक इन 16 लोगों का नाम दर्ज कर दिया गया। एसडीएम सदर प्रेरणा सिंह ने जांच करवाई तो रोहिंग्याओं को वोटर बनाए जाने की पुष्टि हुई, जिसके बाद बीएलओ के खिलाफ ऐक्शन लिया गया। एसडीएम ने पुलिस को जांच कर कार्रवाई करने को भी कहा है।

सांकेतिक तस्वीर


Source link

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *