हरभजन सिंह से पहले ये 8 क्रिकेटर्स भी फ‍िल्‍मों में आ चुके हैं नजर, क्‍या ‘टर्बनेटर’ तोड़ पाएंगे सफलता का त‍िलिस्‍म

Bollywood

भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह की फिल्म ‘फ्रेंडशिप’ का ट्रेलर रिलीज हो चुका है। इस ट्रेलर में हरभजन सिंह अलग अंदाज में नजर आ रहे हैं। अब देखने वाली बात होगी कि क्रिकेट के मैदान पर अपनी फिरकी से कमाल करने वाले हरभजन सिंह सिल्वर स्क्रीन पर कितना धमाल मचा पाते हैं। बताते चलें कि उनसे पहले कई क्रिकेटर्स ने फिल्मी पर्दे पर अपनी पारी शुरू की लेकिन वह टिक नहीं पाए। आइए एक नजर डालते हैं उन क्रिकेटर्स पर जिन्होंने फिल्मी दुनिया में आए तो लेकिन लोकप्रियता नहीं हासिल कर पाए।

अजय जड़ेजा

90 के दशक में भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने वाले अजय जड़ेजा ने खूब नाम कमाया। साल 2000 में मैच-फिक्सिंग स्कैंडल में नाम आने के बाद उनका करियर चौपट हो गया। इसके बाद उन्होंने साल 2003 में फिल्म ‘खेल’ से ऐक्टिंग डेब्यू किया। इस फिल्म में उनके अलावा सन्नी देओल, सुनील सेट्टी और सेलिना जेटली भी थीं। यह फिल्म बॉक्सऑफिस पर चल नहीं पाई। इसके अलावा उन्होंने साल 2009 में फिल्म ‘पल पल दिल’ के साथ में काम किया। हालांकि, अजय जड़ेजा का बॉलिवुड करियर भी खत्म हो गया।

​सलिल अंकोला

सचिन तेंदुलकर के साथ अपनी शुरुआत करने वाले सलिल अंकोला का क्रिकेट करियर लंबा नहीं था। इसके बाद उन्होंने ऐक्टिंग की दुनिया में एंट्री की और ‘कुरुक्षेत्र’, ‘पिताह’ और ‘चुरा लिया है तुमने’ जैसी फिल्मों में काम किया। इसके अलावा वह टेलीविजन सीरियल ‘करम अपना अपना’ और टीवी के चर्चित रिऐलिटी शो ‘बिग बॉस’ में भी नजर आए थे। हालांकि, सलिल अंकोला ने फिर से खेल में वापसी की।

​विनोद कांबली

विनोद कांबली ने 90 के दशक में अपने अच्छे दोस्त सचिन तेंदुलकर के साथ खूब क्रिकेट खेला। हालांकि, उनका करियर जल्द ही एक शानदार शुरुआत के बाद खत्म हो गया। इसके बाद उन्होंने ऐक्टिंग पर फोकस किया। उन्होंने साल 2002 में आई फिल्म ‘अनर्थ’ में सुनील शेट्टी और संजय दत्त के साथ काम किया। यह फिल्म चल नहीं पाई और विनोद कांबली किसी और फिल्म में नजर नहीं आए।

​एस श्रीसंत

बीसीसीआई द्वारा लाइफटाइम क्रिकेट खेलने पर प्रतिबंध लगने के बाद एस श्रीसंत ने फिल्म इंडस्ट्री में अपना भाग्य आजमाया। उन्होंने हिंदी फिल्म ‘अक्सर 2’ ऐक्टिंग की लेकिन उन्हें कोई तारीफ नहीं मिली। यह फिल्म ठीकठाक चली। इसके बाद एस श्रीसंत को ‘बिग बॉस’ में देखा गया, जहां वह रनर अप रहे थे।

​संदीप पाटिल

भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ सेलेक्टर और पूर्व भारतीय बल्लेबाज संदीप पाटिल ने साल 1985 में अपने साथी खिलाड़ी सैयद किरमानी के साथ फिल्म ‘कभी अजनबी’ में एक साथ ऐक्टिंग की थी। यह फिल्म उस समय बहुत पॉप्युलर हुई थी क्योंकि संदीप पाटिल और सैयद किरमानी साल 1985 में वर्ल्ड कप की जीतने वाली टीम का हिस्सा थे। हालांकि, यह फिल्म उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी और बॉक्सऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई।

​कपिल देव

भारत को पहला क्रिकेट वर्ल्ड कप दिलाने वाले कैप्टन कपिल देव ने बॉलिवुड में भी अपनी किस्मत आजमाई है। उन्होंने ‘हरियाणा हरिकेन’, ‘स्टंप्ड’, ‘मुझसे शादी करोगी’, ‘इकबाल’ और ‘चेन कुली की मेन कुली’ में काम किया। कपिल देव की इन फिल्मों में बॉक्सऑफिस पर कुछ खास नहीं चल पाईं।

​सैयद किरमानी

सैयद किरमानी ने भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ सेलेक्टर और पूर्व भारतीय बल्लेबाज संदीप पाटिल के साथ साल 1985 में फिल्म ‘कभी अजनबी’ में ऐक्टिंग डेब्यू किया था। इस फिल्म में उन्होंने विलन का रोल किया था। यह फिल्म भले ही बॉक्सऑफिस पर पिट गई लेकिन सैयद किरमानी के काम की तारीफ हुई थी।

​सुनील गावस्कर

क्रिकेट के मैदान में पिच पर पैर जमाने के लिए मशहूर भारत के सबसे सफल बल्लेबाजों में से एक सुनील गावस्कर ने फिल्म इडंस्ट्री में भी पैर जमाने की कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो पाए। उन्होंने साल 1980 में मराठी फिलम ‘सावली प्रेमची’ में ऐक्टिंग की और इसके बाद साल 1988 में फिल्म ‘मालामाल’ में कैमियो रोल किया था। हालांकि, इसके बाद सुनील गावस्कर को सिल्वर स्क्रीन पर नहीं देखा गया।


Source link

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *