बिहार चुनाव: ‘एके में भाजपा-एलजेपी’ है, चिराग के नेताओं का नारा है!

बेतिया
चिराग के तेवर की चर्चा बिहार में खूब है। एलजेपी सुप्रीमो चिराग हैवान लगातार नीतीश पर तीखा प्रहार कर रहे हैं। लोग कयास यह भी लगा रहे हैं कि क्या बीजेपी और एलजेपी में कोई सौदा नहीं है। क्योंकि चिराग ने किसानों के कैंपेन सेन्ग में एक गीत बजता है कि एलजेपी और बीजेपी एक ही है। एलजेपी ने ज्यादातर बीजेपी के बागी नेताओं को टिकट दिया है। हालांकि बीजेपी के आला नेता इस बात से इनकार करते रहे हैं।

पहले फेज की वोटिंग बिहार में खत्म हो गई है। पालीगंज, दारा और नोखा से बीजेपी के 3 बड़े बागी मैदान में थे। सभी एलजेपी से चुनाव लड़ रहे थे। जमीनी स्तर पर ये उनके लिए काम बीजेपी से जुड़े लोग ही कर रहे थे। पार्टी के एक नेता ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं से वह हम हैं। हम लोग अपने उम्मीदवार के लिए काम कर रहे हैं।

मुंगेर हिंसा: चिराग पासवान ने सीएम नीतीश कुमार को जातिवादी बताया

दूसरे फेज में छपरा, सीवान, मोतिहारी, वैशाली सहित कई जिलों में चुनाव हैं। इन जिलों में भी ज़ीयू के खिलाफ एलजेपी ने उम्मीदवार उतारा है। बीजेपी के नेता यह दावा कर रहे हैं कि एलजेपी से हमारा कोई संबंध नहीं है। लेकिन इन जिलों में एलजेपी के जितने उम्मीदवार हैं, उनके प्रचार वाहनों पर यह गीत जरूर बज रहा है कि बीजेपी और एलजेपी एके है। कुछ नेता तो पोस्टरों पर भी यह लिखवा बांट रहे हैं।

बिहार चुनाव अपडेट: तो जाति छोड़ो रोजगार के मुद्दे पर वोट देगी बिहार?

सुगौली विधानसभा क्षेत्र में कई स्थानों पर ऐसे पोस्टर दिखे, जहां पर लिखा हुआ था कि बीजेपी और एलजेपी एक ही है। साथ ही जमीनी स्तर पर नेता लगातार इस मैसेज को स्प्रेड भी कर रहे हैं। ऐसी स्थिति हर सीट पर है। जहां बीजेपी के कार्यकर्ता एलजेपी नेताओं के लिए काम कर रहे हैं। लेकिन बीजेपी के नेता इसे खारिज करते रहे हैं। मगर हकीकत इससे उलट है।

मोतिहारी: अब नहीं खुलेगी मोतिहारी चीनी मिल? पीएम मोदी से भी टूटी उम्मीदें

वहीं, पीएम मोदी भी अपनी चुनीवी रैलियों में खुल कर एलजेपी पर वार नहीं करते हैं। एलजेपी सुप्रीमो चिराग पासवान लगातार यह कह रहे हैं कि हम पीएम मोदी के हनुमान हैं और उनके लिए काम कर रहे हैं।) वह नीतीश कुमार को जेल भिजवाने की बात कर रहे हैं।



Source link

Spread the love